शनिवार, 7 मई 2011

मां मुश्किल की घड़ी में .....















मां जब भी कोई पल मुझे तन्हा मिलता है
वो सिर्फ तेरी ही बात कर लिया करता है

तेरा अहसास मेरे साथ चलता है वर्ना ये
मासूम बच्चे सा हर कदम पर डरता है

तेरे साथ होने का जज्बा दिल में इस कदर है,
मन ही मन हर पल तुझे पुकार लिया करता है

तुम कभी दुआ बनती कभी जिन्दगी हो जाती,
तभी तो खुद से ज्यादा ऐतबार तुम पे करता है

मां मुश्किल की घड़ी में तेरा आंचल मेरे लिये,
सुरक्षित कर मुझे रक्षा कवच हो जाया करता है

12 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही सुंदर भावपूर्ण रचना ........ माँ का साथ सदैव संबल देता है ..हर बच्चे को

    उत्तर देंहटाएं
  2. माँ सबसे अच्छी सबसे प्यारी होती है..... हैप्पी मदर्स डे

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर रचना!
    --
    मातृदिवस की शुभकामनाएँ!
    --
    बहुत चाव से दूध पिलाती,
    बिन मेरे वो रह नहीं पाती,
    सीधी सच्ची मेरी माता,
    सबसे अच्छी मेरी माता,
    ममता से वो मुझे बुलाती,
    करती सबसे न्यारी बातें।
    खुश होकर करती है अम्मा,
    मुझसे कितनी सारी बातें।।
    "नन्हें सुमन"

    उत्तर देंहटाएं
  4. सब से अच्छी मम्मा .........हैप्पी मदर्स डे

    उत्तर देंहटाएं
  5. जन्मदायिन माँ , ईश्वर का जीवित स्वरुप है ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. तुम कभी दुआ बनती कभी जिन्‍दगी हो जाती,
    तभी तो खुद से ज्‍यादा ऐतबार तुम पे करता है ।

    very touching lines .

    .

    उत्तर देंहटाएं
  7. तुम कभी दुआ बनती कभी जिन्‍दगी हो जाती,
    तभी तो खुद से ज्‍यादा ऐतबार तुम पे करता है ।
    तभी दुख मे मुख से यही निकलता है हाय माँ। खुदा से पहले माँ को पहचाना जाता है। सुन्दर भाव। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत ही सुंदर भावपूर्ण रचना|धन्यवाद|

    उत्तर देंहटाएं
  9. यहाँ तो बस इतना ही कहेंगे माँ तो माँ है उसके जैसा कोई और नहीं | क्युकी उसके लिए जितना भी कहेंगे पूरा न कर पाएंगे | इसलिए माँ तुझे सलाम | :)

    उत्तर देंहटाएं