बुधवार, 18 जुलाई 2012

ना मेरी ना तुम्‍हारी !!!














माँ 
ये शब्‍द जब भी सुनती हूँ
कहीं पढ़ती हूँ
एक ख्‍याल बन तुम
उतर जाती हो सीधे मन में
कभी गुनगुनाती हो
कोई मीठी धुन
कभी कोई सुगंध बन
महका जाती हो चितवन
तुम्‍हारा ख्‍याल
हर ख्‍याल से प्‍यारा लगता है
उसमें होती है
एक स्‍नेह भरी मुस्‍कान
तुम्‍हारी आहट बिन
मन में अकुलाहट सी होती है
क्‍यूँ ... भला
मैं तो हमेशा तुम्‍हारे पास होती हूँ
कहती हो तुम हमेशा
मेरे सिर पर
एक हल्‍की सी चपत लगा के
पर क्‍या करूं माँ
तुम याद आती हो तो फिर आती हो
फिर तुम्‍हारा ख्‍याल सब पर
भारी हो जाता है
किसी की नहीं सुनता
ना मेरी ना तुम्‍हारी !!!
...

21 टिप्‍पणियां:

  1. माँ कहाँ दूर हो पाती है ..बहुत भावुक कर देने वाली रचना

    उत्तर देंहटाएं
  2. माँ का प्यार और आशीर्वाद हमेशा साथ रहता है...
    बहुत सुन्दर मर्मस्पर्शी रचना...
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर...कोमल सी रचना
    सस्नेह
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  4. सीमा जी... यू आर ग्रेट... मैं माँ शब्द और माँ दोनों को बहुत मिस करता हूँ.. माँ की मौजूदगी का एहसास सिर्फ वही समझ सकता है... जिसके पास माँ नहीं है.... मुझे कई लोग कहते हैं आज भी कि क्या हमेशा माँ माँ करता रहता है.. इतना बड़ा हो गया है.. अभी भी माँ माँ करता है.. कैसे बताऊँ सबको कि दुनिया में सब कुछ दोबारा मिल सकता है.. लेकिन माँ नहीं... पर एक बात यह भी है कि कभी भी किसी की माँ किसी के भी बचपन में इस दुनिया से ना जाए. माँ के बाद की ज़िन्दगी बहुत भयावह होती है... आपकी कविता बहुत अच्छी लगी.. दिल को छू गयी....

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कभी भी किसी की माँ किसी के भी बचपन में इस दुनिया से ना जाए.

      आमीन !

      हटाएं
  5. बहुत भावपूर्ण प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  6. तुम याद आती हो तो फिर आती हो
    फिर तुम्‍हारा ख्‍याल सब पर
    भारी हो जाता है
    किसी की नहीं सुनता
    ना मेरी ना तुम्‍हारी !!!
    Bahut Sunder rachna, bahut hi marmik .

    उत्तर देंहटाएं
  7. मां की याद आती है तो बस आती है उस पर किसी का वश कहां । बहुत प्यारी रचना ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. तुम्‍हारा ख्‍याल
    हर ख्‍याल से प्‍यारा लगता है
    उसमें होती है
    एक स्‍नेह भरी मुस्‍कान

    माँ की यादें हमेशा ही अच्छी होती हैं ..

    उत्तर देंहटाएं
  9. मां हैं कि हैं बेटियां
    हैं बेटियां कि है मां

    उत्तर देंहटाएं
  10. सार्थक अभिव्यक्ति। मेरे नए पोस्ट 'समय सरगम' पर आपका इंतजार रहेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  11. maa dur rah kar bhi hamesha -hamesha pass rahti hai jivan paryant.vo nahi rahti pass me fir bhi unka ahsaas har waqr saath hota hai .
    bahut -bahut hi badhiya prastuti-----
    poonam

    उत्तर देंहटाएं